TheResistanceNews

Resistance to known the truth

अफगान सुलह के लिए अमेरिका ने मुँह की खाई, अशरफ़ ग़नी और अमेरिका में विवाद उभरे

1 min read
afghanistan peace talks america failed

afghanistan peace talks america failed

अफगानी राष्ट्रपति अशरफ ग़नी जानते हैं कि अमेरिका के तालिबान के साथ किसी भी शांति समझौते में अगर सत्ता में हिस्सेदारी और हथियारों की सप्लाई को लेकर सहमति बनती है तो यह दोनों ही अफ़गान राष्ट्र के लिए ख़तरनाक साबित होगी। फिलहाल तो अशरफ गनी ने अपनी कूटनीति से अमेरिका को मुँह की खाने को मजबूर कर दिया है। अशरफ गनी यह भी चाहते हैं कि तालिबान के साथ होने वाली किसी भी शांति वार्ता की अगुवाई अफगान सरकार करे। इस काफी नामुमकिन नज़र आता है कि ज़लमी ख़लीलज़ाद क़तर की राजधानी दोहा में बैठकर अफगान सरकार को अलग-थलग रखकर किसी भी शांति वार्ता को सफल कर पाएंगे।
Read More  हिन्दू युवक होनी थी फांसी, 1.8 करोड़ का जुर्माना जमा कर सऊदी शेख ने बचाई जान
आपको बता दें कि इसी साल सितम्बर में अफगानिस्तान लोया जिरगा (लोकसभा) के चुनाव हैं। अफ़गान तालिबान की शांति बहाली के लिए चार माँगें हैं, पहली वह अमेरिका से सीधे बात करेंगे, अन्तरराष्ट्रीय सेनाओं को अफगानिस्तान छोड़ना होगा, एक अंतरिम सरकार का गठन होगा और अफ़गानिस्तान के संविधान में उनके हिसाब से बदलाव होंगे। जाहिर है यह माँगें सिर्फ तालिबान की भलाई में नहीं है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *