राजस्थान चुनाव: ‘जनता भाजपा के झूठे वादों, बढ़ती महंगाई व नफरत की राजनीति से ऊब गई है अब वो शांति, सोहार्द और विकास चाहती है’- अखिलेश यादव

0
5
Akhish Yadav attacks BJP
Akhish Yadav attacks BJP

राजस्थान में 7 दिसंबर को होने वाले विधानसभा चुनाव के मद्देनजर चुनाव प्रचार के अंतिम दौर के चलते बुधवार (5 नवंबर) को यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री व समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने राजस्थान के अलवर में जनसभा को संबोधित करते हुए कांग्रेस और बीजेपी दोनों पर हमला बोला। बता दें कि, राजस्थान में चुनाव प्रचार बुधवार (5 दिसंबर) को खत्म हो गया है।

अखिलेश यादव ने बुधवार को अपने संबोधन में प्रधानमंत्री पर बिना नाम लिए तंज कसा। उन्होंने कहा कि लोग उत्तर प्रदेश में पीएम बनने के लिए जाते हैं, लेकिन दिल्ली का रास्ता राजस्थान से निकलेगा। छह माह बाद केंद्र में सरकार बदलने वाली है। पेट्रोल-डीजल की महंगाई ट्रांसपोर्टर से बेहतर कोई नहीं समझता।

वहीं, राजस्थान विधानसभा चुनाव में कांग्रेस द्वारा ठुकराए जाने से आहत सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि उत्तर प्रदेश में अगर उनकी पार्टी कांग्रेस का साथ छोड़ दे तो उसकी हालत का सहज ही अनुमान लगाया जा सकता है। यादव ने कहा कि राजस्थान में समाजवादियों को कांग्रेस ने साथ नहीं लिया। सोचों अगर हमने उत्तर प्रदेश में उन्हें छोड़ दिया तो क्या होगा।

कांग्रेस और भाजपा की नीतियों को समान बताते हुए सपा अध्यक्ष ने कहा कि दोनों दलों की नीतियों में कोई अंतर नहीं है। देश में खुशहाली का रास्ता समाजवादी रास्ता ही है। भाजपा को जनता ने वोट दिया था कि मंहगाई कम करेंगे। भाजपा ने कांग्रेस से भी ज्यादा दुगनी तिगुनी मंहगाई बढ़ाई।

भाजपा किसानों की आय दुगनी करने की बात करती है पर कैसे बढ़ाएगी इसका अता-पता नहीं है। राजस्थान में रोजगार नहीं हैं। गरीब जनता और नौजवानों को धोखा मिल रहा है।

कांग्रेस बीजेपी में कुछ फर्क नहीं है। बीजेपी ने महंगाई बढ़ाई है। पीएम नरेंद्र मोदी शौचालय से भाषण शुरू करके उसी पर खत्म करते हैं। कांग्रेस एक गड्ढे का शौचालय बनवाती थी और बीजेपी दो गड्ढे का शौचालय बनवाती है, लेकिन उसमें पानी नहीं पहुंचता है। कांग्रेस की नीतियां को बीजेपी आगे ले जा रही है।

यादव ने कहा कि प्रधानमंत्री शौचालय की बड़ी बातें करते हैं पर जो शौचालय बने उनमें पानी नहीं है। कांग्रेस ने एक गड्ढे का तो भाजपा ने दो गड्ढ़े वाला शौचालय बनाया हैं। यानी कांग्रेस ने जहां छोड़ा भाजपा ने उसे ही आगे बढ़ाया है।

भारत माता की जय पर मंगलवार को राहुल गांधी के वार व प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पलटवार के बाद बुधवार को अखिलेश यादव भी सवाल लेकर मैदान में कूद पड़े। उन्होंने कहा कि भाजपा को यह बताना चाहिए कि भारत माता का नारा लगाने से कितना काला धन आया।

उन्होंने कहा कि महंगाई से किसान, युवा व गरीब सभी परेशान है। युवाओं को रोजगार नहीं मिलता है। देश के सामने विकट समस्या है। नोटबंदी का पैसा उद्योगपति लेकर विदेश भाग गए। बिना किसी का नाम लिए उन्होंने कहा एक शराब कारोबारी कम से कम शराब तो पिला रहा था, लेकिन नोटबंदी के बाद वह भी विदेश भाग गया।

वहीं, सपा अध्यक्ष ने बुधवार (5 नवंबर) को सोशल मीडिया पर ट्वीट कर बीजेपी पर निशाना साधा। अखिलेश ने ट्वीट कर लिखा, राजस्थान चुनाव में प्रचार के अंतिम दिन उमड़ी भीड़ बता रही है कि बदलाव कितना बड़ा होगा. जनता भाजपा के झूठे वादों, बढ़ती महँगाई व नफ़रत की राजनीति से ऊब गयी है अब वो शांति, सौहार्द और विकास की ओर देख रही है.