TheResistanceNews

Resistance to known the truth

अमेरिका के जाल में फंसा भारत, ईरान के सस्ते तेल से हाथ धो बैठा

1 min read
Iran Petrol India loss

Iran Petrol India loss

अमेरिकी प्रतिबंधों से छूट खत्म होने के बाद भारत ने इसी महीने ईरान से क्रूड ऑइल खरीदना बंद कर दिया। लिहाजा भारत की निगाहें सऊदी अरब, इराक और अमेरिका पर लगी थीं। लेकिन, अमेरिका ने भारत को सस्‍ती दर पर तेल बेचने से हाथ खींच लिए हैं।
Read More  ह’म’ले में जल का त’बाह हुए सऊदी के 2 तेल टैंकर’, सऊदी सरकार ने कहा हमें हुआ बड़ा नुकसान
सोमवार को अमेरिका ने कहा कि वह भारत को ईरान के सस्ते तेल का आयात रोकने से होने वाले नुकसान की भरपाई के लिए रियायती दर पर अपना कच्चा तेल बेचने का भरोसा नहीं दे सकता है। ट्रेड फोरम में हिस्सा लेने भारत आए अमेरिकी कॉमर्स सेक्रटरी विल्बर रॉस ने यह बात कही।
Read More  रमज़ान के 10वें रोज़े पर 100 से ज्यादा मासूम फिलिस्तीनियों पर बरपा इज़राइल का क़हर, दुआओं की दरख्वास्त
रॉस ने कहा, ‘तेल पर मालिकाना हक निजी हाथों में है इसलिए सरकार दाम में छूट देने के लिए लोगों पर दबाव नहीं बना सकती।’ आपको बता दें कि ईरान से कच्चा तेल मंगाना भारतीय रिफाइनरीज के लिए फायदेमंद होता है। ईरान खरीदारों को भुगतान के लिए 60 दिन का समय देता है। यह सुविधा अन्य देशों जैसे सऊदी अरब, कुवैत, इराक, नाइजीरिया और अमेरिका के साथ उपलब्ध नहीं है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *