व्यापारियों ने चीनी सामान की जलाई होली, करोड़ों का माल जलकर राख दूसरी और SBI का BANK OF CHINA के साथ समझौता

नई दिल्ली: चीन के खिलाफ व्यापारियों के संगठन कॉन्फ़ेडरेशन ऑफ़ आल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) के आवाहन पर दिल्ली सहित देश भर के विभिन्न राज्यों में व्यापारी संगठनो ने 1500 से अधिक स्थानों पर चीनी सामानों की होली जलाई गई. बता दें कि व्यापारियों का विरोध प्रदर्शन चीन द्वारा संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में चौथी बार मसूद अजहर को ग्लोबल आतंकी घोषित करने पर वीटो का उपयोग करने को ध्यान में रखकर किया गया.

प्रर्दशनकारी व्यापारी अपने हाथों में पत्तियां लिए हुए थे जिन पर लिखा था ” भारत को सोने की चिड़िया बनाना है – अब चीन को बाजार से हटाना है “, ” पाक समर्थक चीन को सबक-चीनी सामान का बहिष्कार “, ” चीन से बने सामान को खरीदना या बेचना – अपने जवानों का उत्साह कम करना “, “चीनी सामान का बहिष्कार -तोड़ेगा चीन की आर्थिक कमर ” जैसे पट्टियों द्वारा अपने रोष और आक्रोश का प्रदर्शन कर रहे थे .

वहीं दूसरी और देश के सबसे बड़े बैंक SBI (स्टेट बैंक ऑफ इंडिया) ने Bank of China (बैंक ऑफ चाइना)के साथ करार किया है. बैंक की ओर जारी बयान में कहा गया है कि इस समझौते से एसबीआई तथा बीओसी दोनों को संबंधित बाजारों में सीधी पहुंच का फायदा होगा. एसबीआई की एक शाखा शंघाई में है जबकि बैंक ऑफ चाइना मुंबई में अपनी शाखा खोल रही है.

एसबीआई की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि इस फैसले से व्यापार अवसरों को बढ़ावा देने के लिये बैंक आफ चाइना के साथ समझौते पर हस्ताक्षर किये. भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) ने एक नोटिफिकेशन में कहा कि एसबीआई ने बैंक आफ चाइना के साथ सहमति पत्र पर हस्ताक्षर किये.

इसका मकसद दोनों बैंकों के बीच व्यापार में तालमेल बढ़ाना है. पूंजी आकार के मामले में बैंक आफ चाइना (बीओसी) दुनिया में तीसरा सबसे बड़ा बैंक जबकि चीन के प्रमुख बैंकों में से एक है.

मंत्रालय से जहाज की फाइल चोरी करने वाला चौकीदार को सजा मिली क्या-अखिलेश यादव

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने नरेंद्र मोदी सरकार पर हमला बोलते हुए ट्विटर पर लिखा है कि ” ‘विकास’ पूछ रहा है… मंत्रालय से जहाज़ की फ़ाइल चोरी होने के लिए ज़िम्मेदार लापरवाह चौकीदार को सज़ा मिली क्या?”

उन्होंने नरेंद्र मोदी सरकार पर हमला बोलते हुए लिखा कि यह लापरवाह चौकीदार हैं। दरअसल सपा बसपा रैली गठबंधन एक महा परिवर्तन को लेकर कमर कस चुकी है। सत्ता में बदलाव की मांग हर तरफ उठाई जा रही है

पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने यह भी लिखा है कि ” ‘विकास’ पूछ रहा है… जनता के बैंक खाते से चोरी-छिपे जो पैसे काटे जा रहे हैं, उससे बचाने के लिए कोई चौकीदार है क्या?” दरअसल अखिलेश यादव ने यह सवाल इसलिए उठाया क्यों के स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ने 1772 करोड़ रुपये मिनिमम बैलेंस पेनल्टी के तौर पर अप्रैल से नवंबर के बीच में लगाया गया।

sbi minimum balance Scam
sbi minimum balance Scam

उन्होंने नरेंद्र मोदी के विकास पर हमला बोलते हुए लिखा कि ” ‘विकास’ पूछ रहा है…खाद की बोरी से चोरी रोकने के लिए भी कोई चौकीदार है क्या?”पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने किसानों के दिन-ब-दिन आत्महत्या के लिए मजबूर होने पर केंद्र की सरकार पर हमला बोलते हुए लिखा कि “एक तरफ़ ढाई लोग और उनके मंत्री नाम बदलने में व्यस्त थे तो दूसरी तरफ़ एक किसान सरकार से आत्महत्या करने की आज्ञा लेने पर मजबूर हो गया।दिन भर खेतों में मेहनत और चौकीदारी करके किसान अन्नदाता पेट नहीं भर पा रहा है।”

PM Scheme Yogi UP Scam
PM Scheme Yogi UP Scam

अखिलेश यादव आगे लिखते हैं कि “कितनी शर्म की बात है कि किसान देश का पेट भरे और ख़ुद भूखा मरे!”  लोकसभा चुनाव की नजदीकियां  बढ़ते ही राज नेताओं की बयानबाजी  अपने चरम पर है । गौरतलब है कि लोकसभा चुनाव सात चरणों में होंगे। पहला चरण 11 अप्रैल, दूसरा 18 अप्रैल, तीसरा 23 अप्रैल, चौथा 29 अप्रैल, पांचवा 6 मई, छठा 12 मई और सातवां 19 मई को होगा। 23 मई को मतगणना होगी। 23 मई को ही पता चलेगा कि लोगों ने अगले पांच सालों के लिए सत्ता की चाबी किस पार्टी को सौपेंगी और किस दल की तरफ लोगों का भरोसा भविष्य में रहेगा।